सोमवार, 8 अक्तूबर 2012

आम सूचना (बिहार की जनता के लिए...)

एतद् द्वारा सर्वसाधारण को सूचित किया जाता है कि मुख्यमंत्री महोदय अधिकार यात्रा पर हैं । जिसमें वो राज्य को केन्द्र से मिलनेवाले अधिकार की बात कर रहे हैं । वो काफी गंभीर मुद्दे को लेकर राज्यभ्रमण पर हैं । आप उनकी सभा में अपने अधिकार की बात पूछ कर भाषण में खलल न डालें । अधिकार यात्रा के दौरान किसी भी मुद्दे को लेकर विरोध जतानेवाले असमाजिक तत्व घोषित कर दिए जाएंगे ।
  अधिकार यात्रा में विकास पुरूष की बात सुनने के लिए भारी से भारी संख्या में पधारें । लेकिन ध्यान रहे कि सभा में चप्पल जूता पहनकर आना सख्त मना है । काले कपड़े के साथ काले व्यक्ति भी सभा में प्रतिबंधित है । क्योंकि जिस काले चश्मे से मुख्यमंत्री महोदय पूरे राज्य में विकास देख रहे हैं, उसके काले वस्तु से सख्त नफरत है । अत: आप सभा में पहुंचने से पहले या तो केस कटवा लें या फिर माथे पर तौलिया रख लें ।
 मुख्यमंत्री की सभा में किसी प्रकार का विरोध-प्रदर्शन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा । अगर साल 2005 के बाद बिहार सरकार की नौकरी मिली है, तो आपको सख्त हिदायत है कि आप सभा से दूर ही रहें । अगर सभा में पहुंचते हैं तो सिर्फ अपने नौकरीदाता का जयघोष करें । अधिकार यात्रा में अधिकार का गलत अर्थ समझकर अपने अधिकार की बात कतई न करें । नहीं तो गर्दन पर हाथ रखकर सभा स्थल से फेंकवा दिया जाएगा । आपका कचूमर निकाल दिया जाएगा । नौकरी छीन ली जाएगी ।  
 हमारे मुख्यमंत्री महोदय विकास पसंद इंसान हैं । वो सकारत्मक सोच के हैं । इसीलिए आप भी अपनी सोच बदलें । हर समय भ्रष्टाचार, घुसखोरी, कानून व्यवस्था पर बात न करें । समय की नजाकत को समझा करें । अगर आपसे इंदिरा आवास के लिए मुखिया ने घूस मांगा । अगर कोटे पर राशन समय और सही मात्रा में नहीं मिल रहा है । अगर बीडीओ घूस मांग रहा है । अगर थानेदार परेशान कर रहा है । अगर वेतन को लेकर कोई समस्या है । अभी इसे भूल जाइए । अभी आप सिर्फ मुख्यमंत्री महोदय के हां में हां मिलाइये । क्योंकि विशेष राज्य के दर्जे का सवाल है । अधिकार का सवाल है । आपकी समस्यों को पटना के जनता दरबार में सुनी जा सकती है ।  
उम्मीद है कि आप सभी को मेरी बात समझ में आ गई होगी । आप सभी उपर्युक्त बातों को ध्यान में रखेंगे और शासन प्रशासन को दंडात्मक कार्रवाई करने पर विवश नहीं करेंगे ।
                                   भवदीय  

2 टिप्‍पणियां:

  1. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मतलब मुख्यमंत्री महोदय की रैली में शामिल होने के लिए उनकी पसंद और नापसंद का ख्याल रखना होगा..वरना क्या पता कौन सी बात उन्हें नागावारा लगे...

      हटाएं